"मैं सांस नही ले पा रहा हूँ", जब वो बार-बार लगा रहा था गुहार। | Bharat Gossips

“मैं सांस नही ले पा रहा हूँ”, जब वो बार-बार लगा रहा था गुहार।

वॉशिंगटन डीसी | अमेरिका के मिनियापोलिस शहर में एक अफ्रीकी मूल के अमेरिकन आदमी की पुलिस के निर्मम रवये के कारण मौत हो गई। इस घटना का वीडियो इंटरनेट पर वायरल हो रहा है। वीडियो में एक अश्वेत के हाथों में हथकड़ी लगी हुई है और वह जमीन पर उल्टा लेटा है, जब कि एक पुलिसकर्मी पांच मिनट से ज्यादा समय तक उसकी गर्दन पर अपना घुटना गड़ाए हुए है। वीडियो में व्यक्ति पुलिस से सांस न ले पाने की बात भी कह रहा है लेकिन उसे उन सुना किया जा रहा है। बाद में उस व्यक्ति की अस्पताल मौत हो जाती है। इस मामले में अमेरिका में काफी विरोध-प्रदर्शन शुरू हो गए हैं। मरने वाले अश्वेत व्यक्ति का नाम जॉर्ज फ्लॉयड है। मिनियापोलिस के मेयर जैकब फ्रे ने जॉर्ज फ्लॉयड की हिरासत में मौत के बाद चार पुलिस अधिकारियों को निलंबित कर दिया है।

वह बार-बार कहता रहा कि “मैं सांस नहीं ले पा रहा हूँ।”

वीडियो में सुना जा सकता है कि करीब 40 साल का जॉर्ज लगातार पुलिस अफसर से घुटना हटाने की गुहार कर रहा है। वह कहता है, ‘‘आपका घुटना मेरे गर्दन में है, मैं सांस नहीं ले पा रहा हूं…’’, धीरे-धीरे उसकी आवाज़ आना बंद हो जाती है और वह निसहाय हो जाता है। इसके बाद पुलिसकर्मी कहता हैं ‘उठो और कार में बैठो’ तब भी उसकी कोई प्रतिक्रिया नहीं आती। इस दौरान आस-पास काफी भीड़ जमा होती है। उसे तुरंत अस्पताल ले जाया जाता है, जहां उसकी मौत हो जाती है।

ये भी पढ़ें: पीआईए उड़ान: आखिर क्यों किया पायलट ने तीन-तीन चेतावनियों को नजरअंदाज…?

इस मामले से जुड़े अधिकारियों पर मुकदमा चलाया जा रहा है।
मिनियापोलिस के मेयर जैकब फ्रे ने इस घटना पर नाराजगी जताते हुए बताया कि अधिकारियों पर मुकदमा चलाया जा रहा है। उन्होंने कहा, अमेरिका में अश्वेत होने का ये मतलब नहीं है कि उसे मौत की सजा दे दी जाए वो भी बिना आरोप सिद्ध हुए। नागरिक अधिकारों के वकील बेन क्रम्प ने कहा कि फ्लायड को पुलिस ने धोखाधड़ी के आरोप में पकड़ा था। उस पर फर्जीचेक देने और जाली नोट के इस्तेमाल के आरोप थे। यह एक हिंसक अपराध नहीं था, लेकिन ने पुलिस ने अमानवीयता दिखाते हुए अपने अधिकारों का गलत उपयोग कर उसकी हत्या कर दी।

ये भी पढ़ें: Earthquake ने दहलाया कई राज्यों को, मसूस हुए झटके।

एफबीआई कर रही है मामले की जांच

मिनियोपोलिस के पुलिस चीफमैडारिया एराडोन्डो ने बताया कि मामला एफबीआई को सौंप दिया गया है। उस पर अधिकारों के गलत इस्तेमाल का केस चलाया जाएगा, लेकिन विरोध कर रहे लोगों की मांग है कि अफसर पर हत्या का मामला दर्ज होना चाहिए। उसके साथ शामिल सभी अधिकारियों पर भी हत्या का मामला दर्ज होना चाहिए।
अश्वेतों पर पुलिस की बर्बरता की बात नई नहीं है
फ्लायड की मौत ने 2014 में न्यूयॉर्क के एरिक गार्नर की हत्या की याद दिला दी। यहां भी पुलिस कर्मी ने एरिक का गला चोक कर दिया था। एरिक पर अवैध रूप से सिगरेट बेचने के का आरोप था। इसी साल 13 मार्च को लुईसविले में केंटकी के तीन अमेरिकी पुलिसवालों ने एक ड्रग इंवेस्टिगेशन के दौरान अश्वेत महिला ब्रेन्ना टेलर की गोली मार कर हत्या कर दी थी।
अमेरिका के सिविल लिबर्टीज यूनियन (एसीएलयू) ने कहा कि मिनियापोलिस की घटना यह दिखाती है कि अमेरिकन पुलिसकर्मी मामूली आरोपों पर भी अफ्रीकी मूल के अमेरिकियों पर कठोर व्यवहार करती है।

admin

Next Post

Lockdown 5.0: होंगे नए नियम, जानें सबकुछ

Thu May 28 , 2020
Lockdown 5.0: देश में जारी Lockdown 4.0 जल्द ही खत्म होने वाला है. क्या लॉकडाउन बढ़ाया जाएगा या फिर अब यह खत्म होगा? अब लोगों के सामने यह प्रश्न भी आने लगा है. अगर बढ़ाया गया तो किन नियमों के पालन करने होंगे और किन नियमों में छूट दी जाएगी. देश […]
Lockdown 5.0: new rules, learn everything