hajj सऊदी अरब में ईद-उल-अजहा के जश्न का आगाज, हजयात्रियों ने लिया हिस्सा

सऊदी अरब में ईद-उल-अजहा के जश्न की शुरुआत हो गई। मीना में हजयात्रियों ने हज के अंतिम चरण में हिस्सा लिया और शैतान के प्रतीकात्मक खंभे पर कंकड़ मारे। हज यात्रा सम्पन्न होने पर धार्मिक नवजागरण और पुनर्जन्म के प्रतीक के तौर पर पुरुषों ने अपने बाल मुड़वाए और महिलाओं ने बाल कटवाए।

यात्रा सम्पन्न होने पर पुरूष हजयात्री हज के दौरान पहने जाने वाले खास सफेद लिबास ‘एहराम’ की जगह अपने पुराने कपड़ों को पहन सकते हैं। मुस्लिमों के लिये अपने जीवन में एक बार पांच दिन की हजयात्रा करना जरूरी होता है, अगर वे शारीरिक और आर्थिक रूप से इसे करने में सक्षम हैं।

मुस्लिम समुदाय के लोग हज के खत्म होने पर ईद का जश्न मनाते हैं। इसमें वे गरीबों को मांस भी बांटते हैं। मीना में हज यात्रा के अंतिम चरण को पूरा करने के बाद मोहम्मद सालेह ने कहा कि मैं सूडान से मक्का आया था, जहां मैंने हज की प्रथाओं में हिस्सा लिया।

मीना में हज के अंतिम चरण में हजयात्री शैतान के प्रतीकात्मक खंभे पर कंकड़ मारते हैं। सऊदी अरब ने कहा कि इस साल हज यात्रा के दौरान 160 से अधिक देशों से 18.5 लाख हजयात्री सऊदी अरब आए थे। सऊदी अरब से 6,34,000 लोगों ने हज यात्रा की जिनमें 70 प्रतिशत यहां रहने वाले गैर सऊदी नागरिक थे।

सऊदी मीडिया की खबर के अनुसार रविवार को शाह सलमान ने मीना की यात्रा कर वहां सुरक्षा इंतजामों और अन्य इंतजामों का जायजा लिया। उनके साथ आये मेहमानों में इस साल मार्च में न्यूजीलैंड में मस्जिद पर हुए हमले के पीड़ितों के रिश्तेदार भी शामिल थे। मीना में 2015 में शैतान को कंकड़ मारने की प्रथा के दौरान भीषण भगदड़ की घटना हुई थी जिसमें 2,400 से अधिक लोग मारे गए थे।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *