फेसबुक पिछले काफी समय से यूजर्स की निजता के उल्लंघन मामले में दुनिया भर के तमाम देशों के सवालों से घिरा हुआ है और इसको लेकर इस  पर कई तरह के जुर्माने भी लगाए जा रहे हैं। अगर फेसबुक पर पिछले और ताजा जुर्माने की बात करें तो इस पर अब तक 34 हजार करोड़ से अधिक का जुर्माना लग चुका है।

ताजा मामला अमेरिकी नियामक फेडरल ट्रेड कमीशन (एफटीसी) का है जिसने फेसबुक पर पांच अरब डॉलर (करीब 34 हजार करोड़ रुपये) का जुर्माना लगाया है। एफटीसी ने ब्रिटिश फर्म कैंब्रिज एनालिटिका द्वारा की गई डाटा चोरी के मामले में फेसबुक पर यह जुर्माना लगाया है। निजता के उल्लंघन मामले में किसी भी टेक फर्म पर एफटीसी की ओर से लगाया गया यह अब तक का सबसे बड़ा जुर्माना बताया जा रहा है।

कैंब्रिज एनालिटिका के अलावा भी फेसबुक को यूजरों की गोपनीयता व डाटा सुरक्षा में खामियों को लेकर कई अन्य आरोपों का सामना करना पड़ रहा है। हाल ही में फोटो शेयरिंग साइट इंस्टाग्राम के लाखों यूजर का पासवर्ड सुरक्षित रखने में लापरवाही करने को लेकर पर फेसबुक पर सवालिया निशान खड़े हुए थे।

पिछले साल एफटीसी ने की थी ये घोषणा

पिछले साल एफटीसी ने यह घोषणा की थी कि उसने कैम्ब्रिज एनालिटिका द्वारा करोड़ों यूजर्स का निजी डेटा चुराने के मामले में फेसबुक के खिलाफ जांच फिर से शुरू कर दी है। बता दें साल 2016 में डॉनल्ड ट्रंप के चुनावी अभियान के लिए राजनीतिक सलाहकार कंपनी कैम्ब्रिज एनालिटिका ने ही काम किया था और कैंब्रिज एनालिटिका द्वारा फेसबुक के करीब 8.7 करोड़ यूजर्स का डेटा चोरी करने का मामला सामने आया था।

Leave a comment

Your email address will not be published.