3 जनवरी से भारत बनाम श्रीलंका (IND vs SL) के बीच होगी T20 वनडे सीरीज, टीम का ऐलान बर्खास्त चयन समिति करेगी

IND vs SL : भारतीय टीम को एशिया कप और टी20 वर्ल्ड कप मैं शिकस्त झेलने के बाद कटु आलोचना का सामना करना पड़ा है। जिसके बाद BCCI द्वारा सख्त कदम उठाते हुए टीम इंडिया की चयन समिति को बर्खास्त कर दिया गया था। हालांकि भारतीय टीम को T20 के तुरंत बाद न्यूजीलैंड के दौरे पर जाना पड़ा जिसका चयन पहले ही किया जा चुका था।

अगले साल भारत को तीन मैचों की T20 सीरीज खेलनी है, जिसके लिए खबरो के अनुसार बर्खास्त की गई चयन समिति ही इसमें अपना अहम योगदान निभाएगी। तो इस चयन समिति के किरदार के बारे में हम आपको आगे बताते हैं।

BCCI के सूत्रों से मिली जानकारी

BCCI के सूत्रों के मुताबिक मिली जानकारी के अनुसार वर्तमान चयन समिति ही श्रीलंका के खिलाफ आगामी घरेलू सीरीज के लिए टीम इंडिया का कलेक्शन करेगी। दरअसल इस बात की जानकारी रखने वाले BCCI के एक सूत्र ने अपना नाम गोपनीय रखने की शर्त पर बड़ा बयान देते हुए बताया कि “शायद श्रीलंका के खिलाफ होने वाली वाइट बॉल की टीम का सिलेक्शन पुरानी चयन समिति ही करेगी”।

चेतन शर्मा और उनकी समिति देख रही है घरेलू क्रिकेट

सिर्फ इतना ही नहीं बल्कि BCCI के सूत्रों ने आगे कहा कि

चेतन शर्मा और उनकी चयन समिति की नजरें अभी‌ भी घरेलू क्रिकेट पर टिकी हुई , पूरे विजय हजारे ट्रॉफी और रणजी ट्रॉफी के पहले दो दौर के मैच पर भी उनकी नजरें रहीं। ईडन गार्डंस पर बंगाल और हिमाचल प्रदेश के बीच मैच देखने के लिए देवाशीष मोहंती मौजूद थे। 25 दिसंबर तक उन्हें 2 महीनों का विस्तार मिला है।

अगले चयनकर्ता होंगे कौन

हालांकि अभी भी यह बात स्पष्ट नहीं हो सकी है, कि अगले चयनकर्ता कौन होंगे। चेतन शर्मा T20 सिलेक्शन कमिटी के हेड थे, लेकिन अब उनकी चयन समिति को भंग कर दिया गया है जिसके चलते नई समिति के लिए आवेदन आना शुरू हो गए हैं। चेतन शर्मा और उनके मध्य क्षेत्र के साथी हरविंदर सिंह के चयन के पद के लिए फिर से आवेदन किए गए हैं।

आवेदित नामों में वेंकटेश प्रसाद, नयन मोंगिया, मनिंदर सिंह, अतुल वासन, निखिल चोपड़ा, अमय खुरसिया, ज्ञानेंद्र पांडे और मुकुंद कुमार के नाम शामिल हैं। ऐसी सिचुएशन में अब उम्मीद जताई जा रही है, कि आवेदनों पर अपना जल्द ही फैसला क्रिकेट एडवाइजरी कमिटी द्वारा सुनाया जा सकता है।

Read Also:-Ranu Mondal का वीडियो हुआ वायरल, कच्चा की जगह गाया ‘बांसी बदाम’