Rahul Dravid: हाल ही में जोहानिसबर्ग टेस्ट मैच की दूसरी पारी हुई ऋषभ पंत ने दूसरी पारी में एक लापरवाह शाट खेला और दूसरी पारी में 3 गेंद पर बिना खाता खोले पवेलियन लौट गए. भारत के मुख्य कोच राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) ने कहा कि टीम में कोई भी विकेट कीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत को अपने आक्रामक या सकारात्मक रवैये में बदलाव करने के लिए नहीं कहेगा। उन्होंने स्वीकार किया कि एक समय आएगा जब कोचिंग स्टाफ पंत के साथ समय पर बातचीत करेगा कि क्यों वे विशेष शाट खेल रहे हैं?

उन्होंने स्वीकार किया कि एक समय आएगा जब कोचिंग स्टाफ पंथ के साथ समय पर बातचीत करेगा यह क्यों वह विशेष शॉट खेल रहे हैं ऋषभ पंत काफी समय से फॉर्म पर नहीं थे और अब ऋषभ पंत रन बनाने के लिए फाइट करते नजर आ रहे हैं वही प्रेस कॉन्फ्रेंस मैं टीम इंडिया के हेड कोच राहुल द्रविड़ ने कहा इस मायने में हम जानते हैं कि रिषभ एक सकारात्मक खिलाड़ी हैं और वह एक विशेष तरीके से खेलते हैं जिससे उसे थोड़ी सफलता मिली है, लेकिन निश्चित रूप से, कई बार हम उनके साथ इस तरह की बातचीत करने वाले होते हैं। यह शायद उस समय के चयन के बारे में है। कोई भी रिषभ को कभी सकारात्मक या आक्रामक खिलाड़ी नहीं बनने के लिए कहेगा, लेकिन कभी-कभी ऐसा करने के लिए समय चुनना सही होता है।”

द्रविड़ ने अपनी बात को स्पष्ट करते हुए कहा कि केपटाउन में तीसरे टेस्ट से पहले पंत के साथ हम बातचीत कैसे होगी उन्होंने कहा-, “जब आप अभी आए हैं, तो शायद खुद को थोड़ा और समय देना अधिक उचित होगा। अंत में, हम जानते हैं कि हमें रिषभ के साथ क्या मिल रहा है, वह वास्तव में सकारात्मक खिलाड़ी हैं, वह ऐसे व्यक्ति हैं जो मैच बदल सकते हैं। इसलिए हम स्वाभाविक रूप से उनसे इसे दूर नहीं करेंगे और उसे कुछ अलग बनने के लिए कहेंगे। हालांकि, उनको ये सोचना है कि कब किस तरह का रवैया अपनाने की जरूरत है और कब पारी बिल्ड करने की जरूरत है।