शॉ ने इंदौर में 22 फरवरी 2019 को सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी मैच के दौरान बीसीसीआई के डोपिंग रोधी परीक्षण कार्यक्रम में मूत्र का नमूना उपलब्ध कराया था। बाद में उनके नमूने का परीक्षण किया गया और पाया गया कि इसमें टेरबुटालीन है। टेरबुटालीन, वाडा की प्रतिबंधित सूची में शामिल पदार्थ है।’

भारतीय क्रिकेट टीम के युवा बल्लेबाज और अपनी कप्तानी में भारतीय अंडर-19 टीम को विश्व चैंपियन बनाने वाले टीम इंडिया के उभरते सितारे पृथ्वी शॉ पर बीसीसीआई ने बैन लगा दिया। डोप टेस्ट में फेल होने की वजह से उनपर यह एक्शन लिया गया। बीसीसीआई ने पृथ्वी शॉ पर 15 नवम्बर तक के लिए बैन लगाया है। शॉ पहले से ही चोट की वजह से टीम इंडिया से बाहर चल रहे हैं। इसी वजह से उन्हें वेस्टइंडीज दौरे के लिए नहीं चुना गया था।

पृथ्वी के अलावा विदर्भ के क्रिकेटर अक्षय दुल्लारवार, राजस्थान के दिव्य गजराज को भी डोपिंग के लिए सस्पेंड किया गया है। उल्लेखनीय है कि पृथ्वी ने आखिरी इंटरनेशनल टेस्ट मैच 23 अक्टूबर, 2018 को वेस्टइंडीज के खिलाफ हैदराबाद में खेला था। उन्होंने अब तक भारत के लिए दो टेस्ट खेले हैं। उनके नाम एक शतक और एक अर्धशतक दर्ज है।

Leave a comment

Your email address will not be published.