Mahendra Singh Dhoni में है भारतीय टीम की तस्वीर बदलने की दम, एक बड़ी जिम्मेदारी के लिए बीसीसीआई की टिकी धुरंधर पर नजरें

भारतीय टीम में एक बार फिर से पूर्व भारतीय कप्तान Mahendra Singh Dhoni की वापसी की तैयारियां शुरू हो गई है। बहुत जल्द ही भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड बीसीसीआई द्वारा स्थाई रूप से काम करने के लिए महेंद्र सिंह को न्योता दिया जाने वाला है। माना जा रहा है कि अगले आईपीएल सीजन के बाद धोनी क्रिकेट से संयास ले लेंगे लेकिन इस मौके को किसी भी हालात में बीसीसीआई गंवाने के बारे में सोच तक नहीं सकती।

टीम के साथ महेंद्र सिंह धोनी का काम अलग तरीके का होगा। धोनी को सिर्फ T20 टीम की ही कमान सौंपी जा सकती है, जिसमें उन्हें कुछ चुनिंदा खिलाड़ियों के साथ ही काम करना होगा। कुल मिलाकर धोनी का काम डायरेक्टर ऑफ क्रिकेट के जैसा होगा। पिछले साल टी20 वर्ल्ड कप के दौरान भारतीय टीम का मेंटोर धोनी को बनाया गया था, लेकिन पहले राउंड से ही टीम बाहर हो गई थी, हालांकि यह स्पष्ट हो गया है, कि यदि 1 या 2 हफ्ते का समय किसी को भी मिलेगा, तो कितने समय में किसी भी टीम को बदला नहीं जा सकता। यदि टीम में धोनी को स्थाई पद मिला तो महेंद्र सिंह धोनी निश्चित रूप से टीम की दिशा बदलने की काबिलियत रखते हैं।

बीसीसीआई हेड कोच का भार चाहती है कम करना

मौजूदा समय में बहुत अधिक क्रिकेट खेले जा रहे हैं जिसके चलते खिलाड़ी तीनों फॉर्मेट में खेलने से बचते नजर आ रहे हैं अगर किसी भी टीम के पास तीनों फॉर्मेट के लिए सिर्फ एक हेड कोच मौजूद है उसके पास किसी प्रकार का अवसर नहीं बचता इसी बात को ध्यान में रखते हुए बीसीसीआई राहुल द्रविड़ का भार टीम में कम करना चाहती है। धोनी को क्रिकेट मैं बहुत अधिक नॉलेज है जिसके चलते बोल्ड उनका ही इस्तेमाल करना चाहता है।

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के सबसे बेहतरीन ब्रेन के रूप में महेंद्र सिंह धोनी को जाना जाता है। धोनी के कप्तानी पद पर मौजूद रहते हुए भारत दुनिया की सबसे बेहतरीन क्रिकेट टीम कहलाने का दंभ रख पाया। धोनी की कप्तानी के दौरान भारत T20 वर्ल्ड कप, वनडे वर्ल्ड कप और चैंपियंस ट्रॉफी जैसे खिताब हासिल कर सका। सिर्फ इतना ही नहीं बल्कि उनकी कप्तानी के दौरान ही टीम इंडिया टेस्ट रैंकिंग में पहली बार नंबर वन पर शामिल हो सकी। बीसीसीआई उम्मीद जता रही है, कि बड़ी जिम्मेदारी संभालने के बाद महेंद्र सिंह धोनी भारत को खिताब हासिल करने में सहायता करेंगे।

Read Also:-Cricket के सभी फॉर्मेट में भविष्य में कम ही खिलाड़ियों को मिलेगा खेलने का मौका