IND vs SL : विराट कोहली ने प्लेयर ऑफ द मैच बनने के बाद बताया खिलाड़ियों को बेहतरीन तरीका

IND vs SL : भारत और श्रीलंका के बीच खेले जा रहे वनडे सीरीज का पहला मुकाबला गुवाहाटी के बरसा पारा स्टेडियम में संपन्न हुआ जहां श्रीलंकाई टीम पहले टॉस जीतकर भारत को गेंदबाजी करने के लिए आमंत्रित किया वही भारत पहले बल्लेबाजी करते हुए श्रीलंकाई टीम के सामने 374 रनों का लक्ष्य रखा जिसके चलते मैदान पर लक्ष्य का पीछा करने उतरी श्रीलंकाई टीम मात्र 306 रन बनाकर ही आउट हो गई वही विराट कोहली ने श्रीलंका के खिलाफ 87 गेंदों में 113 रनों की शतकीय पारी खेली।

प्लेयर ऑफ द मैच के खिताब से नवाजे गई विराट

श्रीलंका के खिलाफ अपने बेहतरीन प्रदर्शन के चलते शतकीय पारी खेलने वाले विराट कोहली प्लेयर ऑफ द मैच के खिताब से नवाजे गए। उन्होंने बताया-

“जहां तक में समझता हूं, मुझे कुछ भी अलग नहीं लगता,। मेरी तैयारियां और इरादे हमेशा एक से रहते हैं। मुझे महसूस हुआ, कि मैं अपनी गेंद को बहुत अच्छे से हिट कर रहा हूं। उस टेंपलेट के मैं बहुत करीब था, जिसके साथ में खेलता हूं। मैं समझ गया कि हमें अब 25 – 30 की और आवश्यकता है। वहीं दूसरी स्थिति में हमने परिस्थितियों को समझने की कोशिश की। बोर्ड पर हमारे लिए सहज कुल हासिल करने की कोशिश की। एक चीज जो मैंने इससे सीखी, वह थी हताशा, जो आपको कभी मंजिल तक नहींं पहुंचा सकती।”

‘चीजों को पकड़कर नहीं रख सकता मैं’ विराट

विराट अभी अपनी बात पर नहीं रुके और आगे कहा कि –

“किसी भी चीज को आप को जटिल बनाने की आवश्यकता नहीं है। तुम मैदान पर जाओ, और बिना किसी डर के खेलो। मैं किसी भी चीज को पकड़कर नहीं रख सकता। सही कारणों से आपको खेलना होता है, और जहां तक प्रत्येक खेल को ऐसे ही खेलना होता है, जैसे कि वह आपका आखिरी खेल हो। बस इस बात को लेकर हमेशा खुश रहे, कोई खेल अब आगे बढ़ने वाला है, और हमेशा के लिए मैं कोई खेलने नहीं जा रहा हूं। मैं खुशहाल जगह पर मौजूद हूं और अपने समय का पूरा आनंद भी उठा रहा हूं।”

विराट कोहली की श्रीलंका के खिलाफ शतकीय पारी

20वें ओवर के दौरान बल्लेबाजी करने मैदान पर उतरे विराट कोहली द्वारा इस मैच में बेहतरीन और शानदार बल्लेबाजी की गई। इसके साथ ही उन्होंने 87 गेंदों का सामना करते हुए 113 रनों की बेहतरीन और शानदार पारी खेली। इस दौरान उनके बल्ले से 12 चौके और एक छक्का भी नजर आया। जब मैदान पर विराट कोहली बल्लेबाजी के लिए उतरे, उस समय भारत का स्कोर 147 रनों का रहा। वही जब विराट कोहली पवेलियन गए, उस समय भारतीय टीम 324 रन बनाने में कामयाब रही थी। इस मैच के दौरान उन्होंने अपना वनडे करियर का 45‌ वां शतक पूर्ण किया।

Read Also:-Reports : Team India का परमानेंट कप्तान बनेगा यह खिलाड़ी ना कि Rohit और Virat