IND vs SL : इस भारतीय खिलाड़ी के करियर का श्रीलंका सीरीज के साथ ही हुआ अंत, ले सकते हैं संन्यास

भारत और श्रीलंका (IND vs SL)के बीच तीन एकदिवसीय मैचों की सीरीज का दूसरा वनडे मुकाबला कोलकाता के ईडन गार्डन में खेला गया, जहां श्रीलंकाई टीम द्वारा टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला लिया गया। लेकिन एक बार फिर से श्रीलंकाई बल्लेबाज भारतीय गेंदबाजों के आगे पस्त पड़ गए, और पूरे 50 ओवर के खेले बिना ही 215 रनों पर ऑल आउट हो गए।

भारत की तरफ से सभी गेंदबाजों द्वारा विकेट लिए गए, लेकिन मोहम्मद शमी एक भी विकेट नहीं ले सके। जिसके बाद अब उनका करियर पूर्ण रूप से खत्म ही माना जा रहा है।

दूसरे वनडे मैच में शमी को नहीं मिल सका विकेट

मैच के दौरान भारत के गेंदबाज अपनी ताबड़तोड़ गेंदबाजी के चलते अपनी गेंद से आग उगलते नजर आए। श्रीलंकाई टीम को उन्होंने शुरुआत से ही घुटने टेकने पर मजबूर कर दिया। महज ही मेहमान टीम 125 रनों के स्कोर पर अपने 5 विकेट गवा बैठी। 5 विकेट गंवाने के बाद भी वह समझ ना सकी और 50 ओवर खेले बिना ही पूरी टीम 215 रनों पर ऑल आउट हो गई। श्रीलंका की तरफ से सिर्फ डेब्युटेंट नाविंदु फर्नांन्डो द्वारा 50 रनों की पारी खेली गई, उनके अतिरिक्त इतनी बड़ी पारी कोई भी बल्लेबाज नहीं खेल सका।

भारत की तरफ से मोहम्मद सिराज और कुलदीप यादव द्वारा तीन-तीन विकेट झटके गए। जबकि उमरान मलिक सिर्फ दो विकेट वही अक्षर पटेल मात्र एक विकेट ही ले पाए। वही इस मैच के दौरान मोहम्मद शमी एक भी विकेट लेने में नाकाम रहे। उनके इस प्रदर्शन को देखने के बाद अब अगले मैच में मोहम्मद शमी के करियर पर संकट के बादल मंडराने लगे हैं।

युवा खिलाड़ी बने खतरा

आपको बता दें की यह दूसरा मैच है जब मोहम्मद शमी एकदिवसीय मुकाबलों के दौरान अपनी बेहतरीन छाप छोड़ने में नाकाम साबित हुए हैं। उन्हें पिछले मुकाबले के दौरान मात्र एक विकेट ही मिल सका। उनका यह प्रदर्शन उनके लिए बड़ा खतरा बना हुआ था, क्योंकि भारतीय टीम में इस समय अर्शदीप सिंह, उमरान मलिक और मोहम्मद सिराज जैसे गेंदबाज अपनी एंट्री कर रहे हैं। जो अपने बेहतरीन प्रदर्शन के चलते सबको प्रभावित करने में कामयाब रहे हैं। यदि मोहम्मद शमी का ऐसा ही प्रदर्शन रहा तो बहुत जल्द ही उन्हें भारतीय टीम से बाहर का रास्ता दिखाया जा सकता है।

साल 2013 में उन्होंने अपना डेब्यू किया था। अब तक 60 टेस्ट, 84 वनडे और 23 टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेल चुके हैं। जिसमें मोहम्मद शमी ने टेस्ट में 216 वनडे में 153 और T20 अंतरराष्ट्रीय में 24 विकेट हासिल किए हैं। वहीं फर्स्ट क्लास क्रिकेट में उनके नाम 300 से ज्यादा विकेट हासिल किए जा चुके हैंऋ साल 2019 और साल 2015 क्रिकेट वर्ल्ड कप में भारतीय टीम का प्रतिनिधित्व कर चुके मोहम्मद शमी चाहेंगे, कि वह बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए लगातार तीसरी बार वर्ल्ड कप में भारतीय टीम का प्रतिनिधित्व कर सकें।

Read Also:-IND vs SL : कप्तान Rohit Sharma के चेहरे पर 2-0 से सीरीज जीतने के बाद भी नहीं झलक रही खुशी, कहा यह खिलाड़ी होंगे तीसरे वनडे से बाहर