IND vs NZ : नहीं मिल पा रहा Yuzvendra Chahal को Team India में मौका, जानिए क्या था कारण

IND vs NZ : क्रिकेट के मैदान में Yuzvendra Chahal अपनी एक खास अहमियत रखते हैं। वह एक ऐसे विकेट टेकर हैं, जो किसी भी मैच को आसानी से पलटने की काबिलियत रखते हैं। फिर चाहे जैसा भी गेंदबाज क्यों ना हो, या दो बल्लेबाजों के बीच किसी भी प्रकार की पार्टनरशिप क्यों न चल रही हो, उसे चंद मिनटों में तोड़ने की युज़वेंद्र चहल में काबिलियत मौजूद है। इतनी खूबियों का भंडार होने के बाद भी युजवेंद्र चहल लगातार टीम इंडिया से बाहर चल रहे हैं। उन्हें वनडे प्लेइंग इलेवन में मौका नहीं मिल पा रहा है। और प्लेइंग इलेवन से उन्हें बाहर ही रखा जा रहा हैं।

इस समय भारत न्यूजीलैंड के खिलाफ वनडे सीरीज खेल रहा है। लेकिन अब तक इस खिलाड़ी को मात्र 1 वनडे में ही खेलने का मौका मिल सका। अब प्रश्न उठता है, कि आखिर युज़वेंद्र चहल की जगह पर यह संकट के बादल क्यों मरणा रहे हैं।

कुलदीप यादव के रहते नहीं मिल पा रहा चांस

10 दिसंबर 2022 को गुहावटी के मैदान में युज़वेंद्र चहल ने अपना आखिरी वनडे मुकाबला खेला था, जो श्रीलंका के खिलाफ खत्म हुई वनडे सीरीज का पहला मुकाबला था। उसके बाद युज़वेंद्र चहल चोट का शिकार हो गए थे, तब से लेकर अब तक प्लेइंग इलेवन में इस खिलाड़ी के चलते वह अपनी वापसी कर पाने में नाकाम साबित हो रहे हैं।

युज़वेंद्र चहल की प्लेइंग इलेवन में जगह बनाने का सबसे बड़ा कारण कुलदीप यादव हैं। मौजूदा समय में कुलदीप यादव से किफायती और बेहतरीन गेंदबाज कोई दूसरा भारतीय टीम के लिए नहीं हो सकता।

कुलदीप और चहल में कौन है बेहतर

श्रीलंका के खिलाफ खेले जा रहे दूसरे वनडे मुकाबले में कुलदीप यादव को युज़वेंद्र चहल की जगह मौका दिया गया। कुलदीप यादव मिले इस मुकाबले मे़ अपने बेहतरीन प्रदर्शन के साथ श्रीलंका के खिलाफ दो वनडे मुकाबले खेलते हुए 5 विकेट लेने में कामयाब रहे।

हालांकि उन्होंने मात्र 67 के नुकसान पर ही यह पांच विकेट लिए है। वहीं श्रीलंका के खिलाफ खेले जा रहे पहले वनडे मुकाबले में युज़वेंद्र चहल ने 10 ओवर में 1 विकेट के लिए 58 रनों का नुकसान कर दिया था।

वनडे क्रिकेट में दोनों खिलाड़ियों का अंतर

भारत के लिए चहल अब तक 74 वनडे मुकाबले खेलने में कामयाब रहे, जिसमें वह 8.18 की एक इकोनॉमी के साथ बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए विकेट लेने में कामयाब रहे। वही कुलदीप यादव अब तक 75 वनडे मुकाबले खेलने में कामयाब रहे, जिसमें 5.18 की इकोनॉमी के साथ उन्होंने 124 विकेट लिए हैं।।

Read Also:-Sarfaraz khan ने BCCI को सोचने पर किया मजबूर, शतक पर शतक लगा चयनकर्ताओं के मुंह पर जड़ा तमाचा