IND vs NZ :Sanju Samson को न मिला अवसर तो Hardik Pandya ने कहा - 'ये मेरी टीम है'....

IND vs NZ : न्यूजीलैंड के खिलाफ खेली जा रही T20 सीरीज में भारत 1-0 से शानदार जीत हासिल करने में कामयाब रहा। इस सीरीज में Sanju Samson  और उमरान मलिक जैसे स्टार खिलाड़ियों की प्लेइंग इलेवन में होने की उम्मीद जताई जा रही थी। लेकिन यह उम्मीद खरी नहीं उतर सकी। संजू सैमसन और उमरान मलिक जैसे खिलाड़ियों को दोनों ही मुकाबलों के दौरान खेलने का चांस नहीं मिल सका। वही प्लेइंग इलेवन में संजू सैमसन को शामिल करने को लेकर भी कुछ बहुत ही अधिक सवाल खड़े हुए।

जब बात संजू सैमसन और उमरान मलिक जैसे खिलाड़ियों की हो रही थी, तो हार्दिक पांड्या ने भी अपनी चुप्पी तोड़ते हुए कहा कि, जिन खिलाड़ियों को अभी चांस नहीं मिल सका है, आने वाले समय में उन खिलाड़ियों को अवश्य अवसर मिलेंगे। हार्दिक का मानना है कि कौन सा खिलाड़ी बाहर क्या कर रहा है, मुझे उससे कोई फर्क नहीं पड़ता।

मैं ज्यादा परिवर्तन नहीं करता हार्दिक

प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान हार्दिक पांड्या ने कहा सबसे पहली बात तो यह है कि बाहर कौन है और क्या बोल रहा है। इस लेवल पर किसी प्रकार का फर्क नहीं पड़ता। यह मेरी टीम है और जो मुझे और कोच को सही लगेगा और हमें जो साइड चाहिए होगी, हम वही साइड खिलाएंगे अभी बहुत समय है। सबको अवसर दिए जाएंगे और सबको मौके भी मिलेंगे, और लंबे मौके मिलेंगे अगर यह बड़ी सीरीज होती तो इसमें मैच भी अधिक होते और मौके भी अधिक दिए जाते। लेकिन यह एक छोटी सीरीज थी और मैं ज्यादा परिवर्तन में विश्वास नहीं रखता हूं और आगे भी नहीं रखूंगा।

हार्दिक पांड्या का कहना है कि मेरी इच्छा सिक्स बोलिंग ऑप्शन की थी और इस टूर में वह चीज आई है दीपक हुड्डा ने गेंद डाली है अगर थोड़ा थोड़ा करके बल्लेबाज इस तरह से चिप करते रहेंगे तो आपके पास नए गेंदबाजों का प्रयोग करके विपक्षी टीम को सरप्राइस करने के बहुत से मौके उपलब्ध होंगे।

ईमानदारी से मैं कहूं, तो मैं चीजों को काफी सरल बनाए रखना चाहता हूं। चाहे में किसी मैच में कप्तानी करूं या श्रंखला में करूं, अपने तरीके से टीम की अगुवाई में स्वयं करूंगा। जब कभी मुझे चांस मिल सका तो मैंने सिर्फ वैसा ही क्रिकेट खेला, जैसा मुझे मालूम है। बतौर कप्तान यह T20 सीरीज हार्दिक पांड्या की दूसरी जीत है। उससे पहले उनकी अगुवाई में भारत जून महीने में आयरलैंड को 2-0 से हराने में कामयाब रहा।

ऋषभ पंत बल्ले से सिर्फ 17 रन ही बना सके

न्यूजीलैंड के खिलाफ खेली जा रही T20 सीरीज के दौरान विकेटकीपर बल्लेबाज संजू सैमसन के रिप्लेस पर ऋषभ पंत जैसे खिलाड़ियों को प्लेइंग इलेवन में शामिल किया गया है, जो अपनी बल्लेबाजी के दौरान दोनों पारियों में फ्लॉप साबित हुए। वहीं दूसरे टी-20 मुकाबले के दौरान ऋषभ पंत मात्र 6 रन ही बना सके, उसके बाद नेपियर में हुए आखिरी टी20 मैच के दौरान उनके बल्ले से मात्र 11 रन ही निकल सके। सैमसन द्वारा आखरी T20 मैच विंडीज दौरे पर खेला गया जिसके बाद से उन्हें अपनी पारी के लिए मौके का इंतजार है।

सिर्फ 26 मैच खेलने का संजू को मिला चांस

संजू को इस समय अपनी फॉर्म का प्रदर्शन करने के लिए बहुत ही कम चांस मिल सके हैं। इससे पहले ऑस्ट्रेलिया और साउथ अफ्रीका के खिलाफ T20 सीरीज के दौरान भी सैमसन को टीम में शामिल नहीं किया गया था। उसके बाद एशिया कप और टी20 वर्ल्ड कप के दौरान भी संजू सैमसन से पहले ऋषभ पंत और दिनेश कार्तिक जैसे खिलाड़ियों को महत्व दिया गया। अब तक भारत के लिए यह खिलाड़ी 16 T20 अंतरराष्ट्रीय में 21.14 की औसत और 135.15 के स्ट्राइक रेट के साथ 296 रन बनाने में कामयाब रहा है। वही वनडे इंटरनेशनल की बात की जाए, तो संजू के नाम 73.50 के एवरेज से 294 रन दर्ज है।

Read Also:-IND vs NZ : खराब फॉर्म से जूझ रहे Rishabh Pant आठ मैचों में मात्र 106 रन ही बना सके