T20 World Cup में अगर यह 3 खिलाड़ी होते शामिल, तो शायद आज World Cup होता भारत के नाम

भारतीय क्रिकेट टीम का सफर आईसीसी T20 World Cup 2022 के दौरान अब खत्म हो चुका है, और अपनी हार के बाद टीम के 14 खिलाड़ी भी अपनी सरजमीं पर वापसी कर रहे हैं। लेकिन ICC T20 World Cup के लिए चयनित 15 खिलाड़ियों की स्क्वायड में कप्तान रोहित शर्मा ने 3 खिलाड़ियों के साथ नाइंसाफी की है। पूरे टूर्नामेंट के दौरान यह तीन खिलाड़ी सिर्फ बेंच पर दिखाई दिए।

भारतीय क्रिकेट टीम की हार का मुख्य कारण कुछ अच्छे खिलाड़ियों को खेलने का मौका ना देना भी बताया जा रहा है। रोहित शर्मा की अगुवाई में भारतीय टीम सेमीफाइनल तक का सफर तो आसानी से तय कर पाई, लेकिन सेमीफाइनल में पहुंचने के बाद अचानक 10 विकेट से करारी शिकस्त झेलनी पड़ी।

इन तीन खिलाड़ियों के साथ रोहित ने की नाइंसाफी

भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान रोहित शर्मा द्वारा अपनी प्लेइंग इलेवन में कुछ खास चेंजमेंट नहीं किए गए। टीम इंडिया की 15 खिलाड़ियों की स्क्वायड में शामिल युज़वेंद्र चहल, हर्षल पटेल और दीपक हुड्डा को उन्होंने टीम में खेलने का मौका ही नहीं दिया।

पिछले साल T20 वर्ल्ड कप के दौरान युज़वेंद्र चहल को स्क्वाड में चांस ही नहीं मिल सका। लेकिन इस बार उन्हें मौका मिला भी तो वह प्लेइंग इलेवन में शामिल ही नहीं किए जा सके। रोहित शर्मा अपने ही दिए बयान पर खरे नहीं उतर सके, और दोबारा इस गलती को खुद ही दोहरा बैठे।

इसी के साथ साथ दीपक हुड्डा और हर्षल पटेल जैसे खिलाड़ियों को भी रोहित शर्मा सिर्फ बेंच पर बिठाने के लिए ही आस्ट्रेलिया ले गए थे। लेकिन इन दोनों खिलाड़ियों के रिप्लेस पर भारतीय तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार अर्शदीप सिंह और मोहम्मद शमी द्वारा बेहतरीन प्रदर्शन किया गया था, लेकिन टीम इंडिया के लिए सेमीफाइनल मैच के दौरान प्लेइंग इलेवन में युजवेंद्र चहल को शामिल न करके टीम की मुश्किलें काफी बढ़ गई थी।

कई बड़े नाम युज़वेंद्र चहल के नाम है दर्ज

T20 अंतरराष्ट्रीय विकेट के मुताबिक भारतीय स्पिनर युज़वेंद्र चहल का नाम सबसे सफलतम गेंदबाजों में शामिल है। युज़वेंद्र चहल एक ऐसे गेंदबाज हैं जो विरोधी टीम के छक्के छुड़ाने की काबिलियत रखते हैं।

कप्तान रोहित शर्मा और मुख्य कोच राहुल द्रविड़ द्वारा युज़वेंद्र चहल में बेहतरीन काबिलियत होने के बाद भी एडिलेड के मैदान पर नहीं उतारा गया, वहीं इस गेंदबाज के रिप्लेस पर अक्षर पटेल और रविचंद्रन अश्विन जैसे खिलाड़ियों को लगातार चांस पर चांस मिलते रहे।

Read Also:-Virat kohli का एकछत्र राज आया सामने, कब कौन रहा नंबर एक बल्लेबाज