ये रहे धर्म बदलने वाले 8 cricketer

Cricketer : किसी भी व्यक्ति के जीवन में उसके धर्म का विशेष महत्व होता है। धर्म ही उस व्यक्ति की असली पहचान होती है‌ क्योंकि बचपन से ही हर इंसान अपने धर्म और परिवार से ही जाना जाता है। जिस वंश में किसी भी बच्चे का जन्म होता है। वहीं से उसके धर्म की पहचान शुरू हो जाती है।

लेकिन इसके साथ-साथ ऐसे कई लोग सामने आए जो अपनी पैतृक पहचान को छोड़कर किसी ने धर्म में प्रवेश करना चाहते हैं लेकिन यहां बात किसी और की नहीं बल्कि हमारे क्रिकेटर्स की हो रही है जिन्होंने अपने धर्म को परिवर्तित करते हुए किसी और धर्म को अपना लिया।

क्रिकेट जगत में ऐसे कई क्रिकेटर से सामने आए जिनके द्वारा किन्ही न किन्ही कारणों से अपने धर्म को बदलकर दूसरे धर्म को अपनाया गया इस आर्टिकल के जरिए हम ऐसे 8 खिलाड़ियों के बारे में बात करेंगे जिन्होंने अपने धर्म में परिवर्तन करते हुए अपने नाम को भी बदल डाला।

महमूदुल हसन जोय

देश के क्रिकेटर महमूद उल हसन जॉय अपना धर्म परिवर्तित करके एक मुस्लिम से हिंदू बन गए हैं अपने धर्म में परिवर्तन करने के साथ-साथ उन्होंने अपने नाम में भी परिवर्तन के बारे में विचार किया जिसके चलते अपना नाम परिवर्तित कर कर उन्होंने विकास रंजन दास रख लिया सबसे गौरतलब बात यह रही कि इस क्रिकेटर को अपने नाम और धर्म दोनों बदलने के बाद भी देश के लिए खेलने का मौका नहीं मिल सका।

टी दिलशान

श्रीलंका के पूर्व क्रिकेटर तिलकरत्ने दिलशान के बेहतरीन शॉर्ट्स से सभी लोग परिचित होंगे। लेकिन बहुत ही कम लोग इस बात को जानते होंगे, कि दिलशान का जन्म एक मुस्लिम परिवार मैं हुआ था। 16 वर्ष की उम्र में ही दिलशान ने अपना धर्म परिवर्तित करते हुए इस्लाम धर्म छोड़कर बौद्ध धर्म में प्रवेश किया। धर्म परिवर्तन से पहले दिलशान का नाम तुवान मोहम्मद था। लेकिन अब धर्म परिवर्तन के बाद सिर्फ वह दिलशान के नाम से ही जाने जाते हैं।

कृपाल सिंह

साल 1955 से लेकर 1964 तक भारत के लिए क्रिकेट खेलने वाले सिख परिवार में जन्मे कृपाल सिंह एक क्रिश्चियन लड़की से प्यार कर बैठे। जिसके चलते अपनी मोहब्बत को हासिल करने के लिए उन्होंने धर्म परिवर्तन के बारे में विचार किया। अपना धर्म परिवर्तन कर कृपाल सिंह इस तरह से बदल गए, कि पगड़ी पहनना और दाढ़ी रखना भी उन्हें मुनासिफ नहीं लगा, और अब लोग उन्हें अर्नोल्ड जॉर्ज के नाम से जानते हैं।

सूरज रणदीव

इस लिस्ट में श्रीलंका क्रिकेट टीम के बेहतरीन गेंदबाज सूरज रणदीव भी शामिल हैं। इनका जन्म मुस्लिम परिवार में हुआ था, और उनका नाम मोहम्मद मार्शुक मोहम्मद सूरज था। लेकिन सूरज ने भी इस्लाम धर्म को छोड़कर बाद में बौद्ध धर्म को अपना लिया, और साल 2010 में अपने नाम को बदलकर सूरज रणदीव रख लिया।

वायने पर्नेल

साल 2011 में साउथ अफ्रीका के तेज गेंदबाज वायने पर्नेल द्वारा अपना धर्म परिवर्तित करते हुए ईसाई धर्म छोड़कर इस्लाम धर्म को अपनाया गया। पर्नेल ने भी अपनी मोहब्बत को पाने के लिए धर्म परिवर्तन का सहारा लिया था।

विनोद कांबली

दिग्गज क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर के खास दोस्त विनोद कांबली का भी कुछ खास क्रिकेट करियर नहीं टिक सका। अपने करियर के दौरान यह खिलाड़ी 17 टेस्ट मैच और 104 वनडे खेला, जिसके बाद इनका अंतरराष्ट्रीय करियर पूरी तरह से खत्म हो गया। इन्होंने दो शादियां रचाई। साल 2006 में एंड्रिया हैविट से कैथोलिक परंपरा के साथ दूसरी शादी करने के बाद उन्होंने हिंदू धर्म को छोड़कर ईसाई धर्म को अपना लिया।

विकास रंजन दास

साल 2000 में अपना डेब्यू करने वाले बांग्लादेश के पूर्व क्रिकेटर विकास रंजन दास का क्रिकेट करियर भी अधिक दिनों तक नहीं टिक सका। उन्होंने भी हिंदू धर्म का परित्याग करते हुए इस्लाम धर्म को अपनाया, और धर्म परिवर्तित करते हुए अपना नाम विकास रंजन दास से बदलकर महमदुर रहमान राणा रख लिया।

Read Also:-इन 3 खिलाड़ियों में है Rohit Sharma के 264 रनों के रिकॉर्ड को तोड़ने का दम