BCCI की हरकतों से तंग आकर यह स्टार ओपनर भारत के बाहर खेलने की कर रहा तैयारी

BCCI :- मौजूदा समय में भारतीय टीम में ऐसे कई खिलाड़ी रहे, जो काफी समय से टीम इंडिया से बाहर चल रहे हैं। लेकिन कई खिलाड़ी ऐसे भी रहे, जो अपने बेहतरीन और शानदार प्रदर्शन के चलते टीम इंडिया में अपनी वापसी करने में कामयाब रहे। लेकिन आज इस आर्टिकल के जरिए हम एक ऐसे खिलाड़ी के बारे में बात करेंगे, जो भारतीय टीम का कई सालों से हिस्सा नहीं है, और जब अपने भरसक प्रयास और लगातार कोशिशों के चलते यह बीसीसीआई को अपने प्रदर्शन से आकर्षित नहीं कर पाया तो इसने अब भारत के बाहर खेलने का निश्चय कर लिया है। अपने करियर को लेकर इसने एक बहुत ही महत्वपूर्ण बात कह डाली।

इंटरव्यू के दौरान चौकाने वाला बयान

एक इंटरव्यू के दौरान मुरली विजय ने BCCI पर कटाक्ष करते हुए बताया, कि अब मेरी BCCI को लेकर सारी उम्मीदें समाप्त हो चुकी हैं, और इन्हीं कारणों के चलते अब मैं विदेशों में अपने लिए मौके तलाशने की कोशिशें कर रहा हूं।

मुरली विजय ने बताया कि,

“मुझे प्रतिस्पर्धी क्रिकेट खेलना बहुत पसंद है, और मैं आज भी सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर सकता हूं, लेकिन अब मेरे पास कहीं और मौका तलाशने के अतिरिक्त कोई विकल्प नजर नहीं आ रहा है।”

इससे यह बात स्पष्ट होती है, कि अब मुरली विजय को बीसीसीआई से किसी प्रकार की उम्मीद नहीं रह गई है।

बीसीसीआई की हरकतों से हो उठे परेशान

मुरली विजय ने बीसीसीआई पर निशाना साधते हुए बताया कि

“भारत में 30 के बाद अंधविश्वास नजर आता है, और जहां तक मैं समझता हूं, कि 80 साल के बुजुर्गों के रूप में हमें लोग सड़क पर चलते नजर आते हैं। मैं जानता हूं कि मैं काफी बेहतर बल्लेबाजी कर सकता हूं। लेकिन मेरे पास बहुत ही कम समय था, और मुझे अब अपने लिए अवसरों की तलाश विदेशों में ही करनी पड़ेगी।”

भारतीय टीम के खिलाड़ी मुरली विजय ने आगे बताया कि,

“आप सिर्फ इतना ही कर सकते हैं,जितना आपके कंट्रोल में है उसके अलावा चाह कर भी किसी के द्वारा कुछ नहीं किया जा सकता”

इन कारणों से हुए टीम इंडिया से बाहर

अगर मुरली विजय की बात की जाए, तो यह खिलाड़ी पिछले 4 साल से भारतीय टीम से बाहर चल रहा है। आखिरी बार दिसंबर 2018 में वह आस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट मैच खेलते नजर आए थे। कई खिलाड़ियों ने घरेलू क्रिकेट में बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए अपनी टीम में वापसी की है।

घरेलू क्रिकेट में भी मुरली विजय कुछ खास कमाल नहीं दिखा सके हैं। भारतीय टीम के लिए वे 61 टेस्ट मैच खेलते हुए 3982 रन बनाने में कामयाब रहे। इसके बाद इस खिलाड़ी के लिए सभी दरवाजे बंद नजर आ रहे हैं।

Read Also:-Women IPL:- 8 टीमों ने दिखाई अपनी दिलचस्पी, मुंबई इंडियंस और चेन्नई सुपर किंग्स में हो सकती है टक्कर