BCCI ने लिया बड़ा फैसला, अब T20 टीम में नहीं नजर आएंगे Virat - Rohit

T20 World Cup Virat – Rohit : भारतीय क्रिकेट बोर्ड (BCCI) द्वारा T20 वर्ल्ड कप 2022 के दौरान टीम इंडिया का प्रदर्शन देखने के बाद कुछ कड़े फैसले देने का फैसला किया गया है। अब अगले 24 महीनों में भारत की T20 टीम में बड़ा बदलाव किया जाएगा, जिसके चलते रोहित शर्मा, विराट कोहली और रविचंद्रन अश्विन जैसे सीनियर खिलाड़ियों को BCCI द्वारा धीरे-धीरे बाहर करने की योजना बनाई जा रही है। भारतीय क्रिकेट बोर्ड (BCCI) द्वारा सूत्रों को यह बड़ी जानकारी दी गई।

रोहित और कोहली लेंगे आखिरी फैसला

ऐसा प्रतीत होता है, कि भारत के लिए रविचंद्रन अश्विन और दिनेश कार्तिक द्वारा सबसे छोटे फॉर्मेट में अपने आखिरी मुकाबले खेल लिए गए हैं। लेकिन अपने टी20 भविष्य को लेकर फैसला करने की बड़ी जिम्मेदारी बीसीसीआई द्वारा कोहली और रोहित पर छोड़ी जाएगी। टी20 वर्ल्ड कप सेमीफाइनल में भारतीय टीम की शर्मनाक हार को लेकर परेशान नजर आ रहे रोहित शर्मा को मुख्य कोच राहुल द्रविड़ द्वारा सांत्वना दी गई, और फिर प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान मीडिया का सामना भी किया गया। अभी अगला T20 वर्ल्ड कप 2 साल बाद होना है और अगर इस मामले को लेकर जानकारी रखने वालों की बात मान ली जाए तो अब हार्दिक पांड्या की अगुवाई में नई टीम तैयार की जाएगी क्योंकि हार्दिक अभी लंबे समय तक कप्तानी पद पर रह सकते हैं।

बीसीसीआई सूत्र द्वारा किया गया बड़ा खुलासा

बीसीसीआई के एक सूत्र द्वारा नाम गुप्त रखने की शर्त पर पीटीआई को बताया गया, कि कभी भी किसी खिलाड़ी से बीसीसीआई सन्यास लेने को नहीं कहता है, यह एक खिलाड़ी का व्यक्तिगत फैसला होता है। लेकिन 2023 में सीमित टी-20 मुकाबलों को देखते हुए वनडे और टेस्ट मैचों पर सीनियर खिलाड़ी ध्यान केंद्रित करेंगे, आपकी मर्जी के बिना आपको सन्यास लेने की आवश्यकता नहीं है। अधिकतर सीनियर खिलाड़ियों को आप अगले साल T20 के दौरान खेलते नहीं देख सकेंगे। अब ऐसी सिचुएशन में T20 टीम का विराट और रोहित का हिस्सा बने रहना काफी मुश्किल नजर आ रहा है।

प्रेस कॉन्फ्रेंस में राहुल द्रविड़ ने कहीं यह बात

जब पीटीआई द्वारा मुख्य कोच राहुल द्रविड़ से कोहली और रोहित जैसे सीनियर खिलाड़ियों को लेकर भविष्य के बारे में पूछा गया, तो उन्होंने कहा कि अभी बदलाव के बारे में बात करना बहुत जल्दबाजी हो जाएगी। द्रविड़ ने कहा कि अभी सेमीफाइनल मुकाबले के तुरंत बाद इसके बारे में बात करना बहुत अधिक जल्दबाजी होगी। हमारे लिए इन खिलाड़ियों द्वारा बेहद शानदार प्रदर्शन किया गया है। जैसा अभी आपने कहा अभी इस पर विचार करने के लिए हमारे पास कुछ सालों का समय‌ शेष है।

टीम इंडिया का ध्यान वनडे वर्ल्ड कप पर

माना जाता है, कि अगले 1 साल के लिए टी-20 फॉर्मेट को अधिक प्राथमिकता नहीं मिल सकेगी, क्योंकि अगले साल अपने ही देश में होने वाले 50 ओवर के वर्ल्ड कप से पहले कम से कम भारत 25 वनडे मैच खेलने में कामयाब रहेगा। अगर भारत के कार्यक्रम पर नजर डाली जाए तो पता चलेगा कि टीम अगले सप्ताह न्यूजीलैंड में 50 ओवर के वर्ल्ड कप तक तीन मैचों की सीरीज से शुरू होने वाले द्विपक्षीय आयोजनों के रूप में मात्र 12 टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेल सकेगी।

सीनियर खिलाड़ियों को अब मौका मिलना मुश्किल

विराट और रोहित क्रिकेट जगत के बहुत बड़े खिलाड़ी हैं, और संभावना जताई जा रही हैं कि अपने भविष्य का फैसला बीसीसीआई द्वारा उन्हें ही सौंप दिया जाएगा। अभी 35 साल की उम्र पार कर चुके रोहित शर्मा से आगामी 2 साल बाद 37 वर्ष की उम्र में आने वाले T20 टूर्नामेंट के दौरान टीम की अगुवाई करने की उम्मीद नहीं जताई जा सकती। वहीं मौजूदा टी-20 वर्ल्ड कप को देखते हुए दिनेश कार्तिक को फिनिशर की भूमिका सौंपी गई थी। और अगर बात रविचंद्रन अश्विन की हो रही हो, तो पूरे टूर्नामेंट के दौरान आश्विन अपनी बेहतरीन गेंदबाजी और बल्लेबाजी के चलते विपक्षी बल्लेबाजों को नाकाम नहीं कर सके। उनके द्वारा छह मैचों में छह में से तीन विकेट जिंबाब्वे के खिलाफ लिए गए, इसके साथ ही उनके द्वारा 8.15 की इकोनॉमी रेट से रन भी बनाए गए।

Read Also:-Sania Mirza and Shoaib Malik का टूटने वाला है रिश्ता! हुआ बड़ा खुलासा