IND vs SA: अश्विन ने दिखाया गेंदबाजी में ज़ोहर. बता दें कि भारत व साउथ अफ्रीका के बीच जोहानिसबर्ग स्थित द वांडर्स स्टेडियम में टेस्ट मैच खेला जा रहा है। जिसमे भारतीय टीम ने साउथ अफ्रीका के खिलाफ तीन टेस्ट की सीरीज में 1-0 की बढ़त भी बना ली है। खेले जा रहे क्रिकेट मैच में यदि गेंदबाजी की बात की जाए तो भारत के धुरंधर स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने मैच के तीसरे दिन अपनी फिरकी का कमाल दिखाते हुए इतिहास रच दिया।

द वांडर्स मैदान पर आर. अश्विन ने दिखाई अपनी फिरकी

दरअसल जोहानिसबर्ग स्थित द वांडर्स मैदान पर भारत की ओर से पूर्व स्पिनर अनिल कुंबले ही एकमात्र स्पिनर रहे, जो विकेट ले सके हैं। उन्होंने यहां कुल 17 विकेट झटके है। उनके अलावा कोई भी भारतीय स्पिनर इस मैदान पर विकेट नहीं ले सका था, लेकिन अब अश्विन ने अपनी गेंदबाजी से ऐसा कर दिखाया।

कुंबले के बाद बने पहले भारतीय स्पिनर

गौरतलब है कि रविचंद्रन अश्विन ने खेले जा रहे टेस्ट मैच के तीसरे दिन साउथ अफ्रीका की दूसरी पारी में कीगन पीटरसन को LBW आउट कर इस मैदान पर विकेट लेने वाले कुंबले के बाद पहले भारतीय स्पिनर बन गए। आपको बता दे कि इस मैदान पर भारत की ओर से पूर्व भारतीय क्रिकेटर रवि शास्त्री, सचिन तेंदुलकर भी गेंदबाजी कर चुके हैं। इसी के साथ आपको बता दे कि इस मैदान पर पाकिस्तान के स्पिनर शादाब खान ने भी जनवरी 2019 में विकेट लिया था।

पीटरसन को बनाया शिकार

आपको बता दे कि भारतीय टीम ने साउथ अफ्रीका के सामने 240 रन का लक्ष्य रखा था, जिसके जवाब में अफ्रीकी टीम ने एक विकेट गंवाकर 93 रन बना लिए थे तथा अफ्रीका के लिए कप्तान डीन एल्गर और पीटरसन बड़ी पार्टनरशिप की तरफ बढ़ रहे थे तभी आर. अश्विन ने उनकी जोड़ी को तोड़ते हुए विकेट चटका दिया। बता दे कि अश्विन ने पीटरसन को अपना शिकार बनाकर इस जोड़ी को तोडा. हालांकि आउट होने तक पीटरसन ने एल्गर के साथ मिलकर दूसरे विकेट के लिए 46 रन की पार्टनरशिप कर ली थी।

साउथ अफ्रीका में जीतेगी द्विपक्षीय टेस्ट सीरीज

इसी के साथ आपको बता दे कि इस सीरीज़ में अब तक भारतीय टीम ने 1-0 की बढ़त बना ली है। भारत टीम ने पहला मैच 113 रन से जीता था। यदि खेली जा रही सीरीज़ में भारतीय टीम जीत दर्ज करती है तो पहली बार साउथ अफ्रीका में द्विपक्षीय टेस्ट सीरीज जीतेगी.