Indian Team में 3 साल से मौके के इंतजार में तरस रहा यह खिलाड़ी, है Hardik Pandya जैसा घातक ऑलराउंडर

Indian Team मैनेजमेंट द्वारा एक तेज गेंदबाज ऑलराउंडर खिलाड़ी को बहुत अधिक महत्व दिया जाता है। भारत के पास मौजूदा समय में नेशनल लेवल पर ‌सिर्फ एक ही फास्ट बॉलर ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या के रूप में मौजूद है।‌‌ लेकिन ऐसा नहीं हो सकता कि भारत के घरेलू क्रिकेट में और तेज गेंदबाज मौजूद हो ही ना। शिवम दुबे, विजय शंकर, अर्जुन तेंदुलकर जैसे फास्ट बॉलर ऑलराउंडर खिलाड़ियों के नाम इस लिस्ट में शामिल है। इस आर्टिकल के जरिए हम इनमें से एक के बारे में बताएंगे।

इस खिलाड़ी को किया जा रहा है नजरअंदाज

बहुत ही बेहतरीन और कमाल के हरफनमौला खिलाड़ियों में विजय शंकर का नाम शामिल है। सबसे दिलचस्प बात यह है कि भारत के लिए एकदिवसीय विश्वकप भी यह खिलाड़ी खेल चुका है। साल 2014 में रणजी ट्रॉफी में जब उन्होंने शानदार और बेहतरीन प्रदर्शन किया था, उस समय इस खिलाड़ी के नाम की चर्चाएं काफी जोरो से हो रही थी।

रणजी ट्रॉफी में भी विजय शंकर दो अर्धशतक और दो शतक जड़ चुके हैं। जिसके बाद इस खिलाड़ी को इंडिया ए से बुलावा आया था। विजय शंकर ने इंडिया ए की तरफ से भी काफी शानदार और बेहतरीन प्रदर्शन किया है। जिसके चलते विजय शंकर को साल 2018 में आईपीएल के दौरान सनराइजर्स हैदराबाद का साथ मिला था।

विश्व कप का भी रह चुके एक हिस्सा

आईपीएल में बेहतरीन और शानदार प्रदर्शन करने के बाद विजय शंकर को भारतीय टीम में चांस मिल गया। जिसके चलते विजय शंकर ने एकदिवसीय सीरीज के दौरान अपने बल्ले और गेंद दोनों से बेहतरीन प्रदर्शन दिखाया। जिसके बाद साल 2019 में उन्हें विश्व कप टीम का हिस्सा बनाया गया। साल 2019 में पदार्पण करने वाले विजय शंकर ने पहले वर्ल्ड कप की पहली गेंद पर विकेट लेते हुए अपना उसी साल बेहतरीन पदार्पण किया था।

पाकिस्तान के खिलाफ यह मैच खेला गया था। जिसमें साल 2019 में विजय शंकर ने वनडे क्रिकेट में 12 मैच खेलते हुए 223 रन बनाने में कामयाब रहे, इसके साथ-साथ उनके द्वारा चार विकेट भी चटकाए गए। इसके अतिरिक्त विजय शंकर द्वारा भारत के लिए 9 टी-20 मैच खेलते हुए 101 रन बनाने के साथ 5 विकेट भी चटकाए गए।

3 साल से कर रहे अपनी वापसी का इंतजार

साल 2019 वर्ल्ड कप के बाद बेहतरीन प्रदर्शन के चलते भारतीय टीम में हार्दिक पांड्या की वापसी हो सकी है। और अपनी वापसी के साथ ही उन्होंने बेहतरीन और शानदार प्रदर्शन करने शुरू कर दिए। इसके बाद चयनकर्ताओं का ध्यान विजय शंकर के नाम की तरफ गया ही नहीं, और उनको टीम से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया। घरेलू क्रिकेट में बेहतर और शानदार प्रदर्शन करने वाले विजय शंकर पिछले 3 सालों से अपनी वापसी के इंतजार में लगे हुए हैं।

Read Also:-IND vs AUS : 15 सदस्यीय भारतीय टीम ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ Test Series में हुई तैयार, फिट हुआ दुनिया का सर्वश्रेष्ठ घातक खिलाड़ी