रिलेशनशिप में लड़ाई ही सहमत नहीं होने की वजह से होती है। किसी भी रिलेशनशिप में बॉयफ्रेंड या गर्लफ्रेंड से लड़ाई की वजह ही आपसी मतभेद होते हैं। बेहद छोटी-छोटी बातें जिसमें एक-दूसरे से सहमत और असहमत होने से लेकर पसंद और नापसंद तक शामिल हैं।

जब आप एक-दूसरे को अपनी-अपनी बातें, आदतें और पसंद-नापसंद मनवाने लगते हैं तो आपके बीच मनमुटाव और झगड़े होने लगते हैं। इसलिए आप अपने बॉयफ्रेंड और गर्लफ्रेंड को कभी भी अपने हिसाब से न चलाएं।

हर किसी की अपनी पसंद और नापसंद होती है। अपनी जीवनशैली होती है। अगर आप दखल देंगे तो आपके बीच प्यार की जगह लड़ाई का दौर शुरू होगा। रिश्ते में छोटी-मोटी नोंकझोंक होनी भी जरूरी है। अगर आप किसी से प्यार करते हैं तो बना लड़ाई के आपका प्यार मुक्कमल नहीं होता। ऐसे में किसी भी रिलेशनशिप में छोटी-मोटी लड़ाई तो चलती ही रहती है लेकिन इस बात का ख्याल रखना बेहद जरूरी है कि यह लड़ाई बड़ी न बनें। अगर आप चाहते हैं कि आपका रिलेशनशिप बिना लड़ाई-झगड़े के चले तो एक-दूसरे पर अपने विचार न थोपे। एक-दूसरे की पसंद-नापसंद की कद्र करें।

Leave a comment

Your email address will not be published.