Shaheen Bagh: Man came with pistol to talk to protesters
Shaheen Bagh: Man came with pistol to talk to protesters

नागरिकता संशोधन कानून (CAA) को दिल्ली स्थित शाहीन बाग (Shaheen Bagh) में एक महीने से ज्यादा समय से लोगों का प्रदर्शन जारी है। मंगलवार को एक शख्स शाहीन बाग (Shaheen Bagh) में प्रदर्शनकारियों से बात करने लाइसेंसी पिस्तौल के लेकर पहुंच गया। इसके बाद लोगों में अफरातफरी मच गई। 

‘जो शाहीन बाग में प्रदर्शन कर रहे हैं वे बांग्लादेशी और पाकिस्तानी है’

भारतीय जनता पार्टी (BJP) के राष्ट्रीय सचिव राहुल सिन्हा शाहीन बाग में धरने पर बैठी महिलाओं को निशाने पर लिया है। कहा कि जो दक्षिण पूर्व दिल्ली के शाहीन बाग में प्रदर्शन कर रहे हैं वे बांग्लादेशी और पाकिस्तानी है।

इसे भी पढ़ें : Prostitution: ‘मर्दों की मंडी’, इस काले सच को सुनकर आप भी हिल जाएंगे

सिन्हा ने कहा कि दिल्ली के शाहीन बाग (Shaheen Bagh) में जो प्रदर्शन चल रहा है वह बांग्लादेशियों और पाकिस्तानियों द्वारा किया जा रहा है। वे भारतीय झंडे को हाथों में पकड़कर राष्ट्रवाद की आड़ में इस तथ्य को छिपा रहे हैं कि वे ही घुसपैठिए हैं। कहा कि कई राजनीतिक दलों ने अपने प्रतिनिधियों को शाहीन बाग भेजा। 

भाजपा राष्ट्रीय सचिव ने कहा कि हमने क्या देखा हैं वहां यहीं ना कि भारत के राष्ट्रीय ध्वज के साथ वहां विरोध करने वाले और राष्ट्रीय दलों के राजनीतिक नेता उनके साथ शामिल हो रहे हैं ? भारत से असम को विभाजित करें, भारत से कश्मीर को विभाजित करें। उन्होंने कहा कि भारत को एकजुट करने के बजाय, शाहीन बाग में भारत को विभाजित करने का विरोध किया जा रहा है।

इसे भी पढ़ें : Petrol-Diesel Prices Fall: लगातार 15 दिन कमी देखने को मिली

बता दें कि सीएए, एनपीआर और एनआरसी विरोध के नाम पर 15 दिसंबर को शाहीन बाग से शुरू हुआ महिलाओं का प्रदर्शन देश के कई हिस्सों में फैल रहा है। दिल्ली में ही करीब आधा दर्जन स्थानों पर इस तरह के प्रदर्शन चल रहे हैं, लेकिन भाजपा के नेताओं का कहना है कि इसके आगे झुकने की कोई जरूरत नहीं है।