Delhi High Court
Delhi High Court

दिल्ली हाईकोर्ट (Delhi High Court) ने बुधवार को सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म फेसबुक, गूगल, यू ट्यूब और ट्विटर को योग गुरु रामदेव के खिलाफ आपत्तिजनक विषय-वस्तु वाले एक वीडियो के लिंक को वैश्विक स्तर पर ब्लॉक या निष्क्रिय करने का आदेश दिया है.

एम सिंह ने कहा कि सिर्फ भारत के उपयोगकर्ताओं के लिए आपत्तिजनक विषय-वस्तु को निष्क्रिय या ब्लॉक करना काफी नहीं है क्योंकि यहां रह रहा उपयोगकर्ता किसी अन्य माध्यम से भी विषय वस्तु देख सकता है.

इसे भी पढ़ें : मुकेश अंबानी: सबसे धनी देश बनने की राह पर भारत

images 7 आपत्तिजनक वीडियो हटाए फेसबुक और गूगल, हाईकोर्ट (Delhi High Court) का आदेश- बाबा रामदेव के खिलाफ
Delhi High Court

हाईकोर्ट (Delhi High Court) ने कहा कि सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म की यह जिम्मेदारी है कि वह इस विषय-वस्तु तक लोगों की पहुंच आंशिक नहीं बल्कि पूरी तरह रोके. हाईकोर्ट ने कहा कि सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म को भारत में अपलोड की गई आहत करने वाली सारी सामग्री प्लेटफॉर्म के कंप्यूटर नेटवर्क पर वैश्विक आधार पर पूरी तरह अवरूद्ध करनी होगी.

इसे भी पढ़ें : विश्व बैंक की ‘कारोबार में सुगमता’ रिपोर्ट में भारत अब और ऊपर चढ़कर 63वें पायदान पर पहुंच गया है

यह फैसला तब दिया जब सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ने कहा था कि उन्हें इस सामग्री के यूआरएल को भारत में अवरूद्ध करने पर कोई आपत्ति नहीं है लेकिन वह वैश्विक आधार पर इस सामग्री को हटाने के खिलाफ है.