Asaduddin Owaisi: ‘Babri Masjid was, is and will remain inshaAllah’
Asaduddin Owaisi: ‘Babri Masjid was, is and will remain inshaAllah’

हैदराबाद- एक और जहां राम मंदिर भूमि पूजन को लेकर देश भर में उल्लास का माहौल है वहीं दूसरी और कई जगह नाराजगी का माहौल है। अयोध्या में भूमि पूजन से पहले ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) ने बाबरी मस्जिद पर ट्वीट किया है। ओवैसी ने बाबरी जिंदा है हैशटैग के साथ ट्वीट किया।

बाबरी थी, है और रहेगी

असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) ने ट्वीट में लिखा, बाबरी मस्जिद थी, है और रहेगी इंशाअल्लाह। एआईएमआईएम नेता ने हैशटैग बाबरी जिंदा है के साथ इस ट्वीट को शेयर किया। बताते चलें कि ओवैसी ने पीएम मोदी के भूमि पूजन कार्यक्रम में शामिल होने पर सवाल उठाते हुए कहा था कि यह संविधान सम्मत नहीं होगा ओवैसी ने पिछले कुछ दिनों में भूमि पूजन की खबरों पर लगातार अपना विरोध जताया है।

ये भी पढ़ें: भोपाल में हाई प्रोफाइल शादी के 250 बरातियों में से 48 लोग कोरोना पॉजिटिव!

पिछले हफ्ते उन्होंने बाबरी विध्वंस के लिए कांग्रेस को भी जिम्मेदार ठहराया था। उन्होंने एक ट्वीट में लिखा था कि जिसका हक बनता है, उसे क्रेडिट दिया जाना चाहिए। आखिर वो राजीव गांधी ही थे, जिन्होंने बाबरी मस्जिद का ताला खोला था और वो पीवी नरसिम्हा राव ही थे, जिन्होंने प्रधानमंत्री के पद पर रहते हुए ये पूरा विध्वंस देखा था। कांग्रेस संघ परिवार के साथ विध्वंस के इस अभियान में हाथ में हाथ डाले खड़ी रही।

आप सुप्रीम कोर्ट का सम्मान नहीं कर रहे

इस बीच ओवैसी के ट्वीट के बाद ट्विटर पर भी तेजी से प्रतिक्रियाएं आ रही हैं। कई लोगों ने उन पर सुप्रीम कोर्ट के आदेश की अवमानना का आरोप लगाया है। एक ट्विटर यूजर ने लिखा, ‘भारतीय सुप्रीम कोर्ट के आदेश का आप सम्मान नहीं कर रहे हैं। इससे साबित होता है कि आपके खून और धर्म में दूसरे लोगों के हक पर जबरदस्ती दावा और अनादर करना रचा-बसा है। यही काम आपके बाबर ने किया था।

ये भी पढ़ें: Rakshabandhan 2020: राशि के अनुसार भाई को बांधे किस रंग की राखी!

प्रियंका के बयान पर ओवैसी का पलटवार

एक दिन पहले मंगलवार को लोकसभा सांसद ओवैसी ने प्रियंका गांधी के बयान पर पलटवार किया था। उन्होंने प्रियंका के बयान पर कहा था, खुशी है कि वो अब नाटक नहीं कर रही हैं। कट्टर हिंदुत्व की विचारधारा को गले लगाना चाहती हैं तो ठीक है, लेकिन भाईचारे के मुद्दे पर वो खोखली बातें क्यों करती हैं।