Ram Setu Bridge: नल और नील के पत्थर डूबते नहीं थे, इसके पीछे क्या वैज्ञानिक कारण थे? | Bharat Gossips

Ram Setu Bridge: नल और नील के पत्थर डूबते नहीं थे, इसके पीछे क्या वैज्ञानिक कारण थे?

इतने सालों के शोध के बाद वैज्ञानिकों ने रामसेतु पुल (Ram Setu Bridge) में इस्तेमाल हुए पत्थरों का वजूद खोज निकाला है। विज्ञान का मानना है कि रामसेतु पुल (Ram Setu Bridge) को बनाने के लिए जिन पत्थरों का इस्तेमाल हुआ था वे कुछ खास प्रकार के पत्थर हैं, जिन्हें ‘प्यूमाइस स्टोन’ कहा जाता है।

दरअसल यह पत्थर ज्वालामुखी के लावा से उत्पन्न होते हैं। जब लावा की गर्मी वातावरण की कम गर्म हवा या फिर पानी से मिलती है तो वे खुद को कुछ कणों में बदल देती है। कई बार यह कण एक बड़े पत्थर को निर्मित करते हैं। वैज्ञानिकों का मानना है कि जब ज्वालामुखी का गर्म लावा वातावरण की ठंडी हवा से मिलता है तो हवा का संतुलन बिगड़ जाता है।

इसे भी पढ़ें : शिवरात्रि का यह संयोग गृहस्थों के लिए लाभकारी

यह प्रक्रिया एक ऐसे पत्थर को जन्म देती है जिसमें कई सारे छिद्र होते हैं। छिद्रों की वजह से यह पत्थर एक स्पॉंजी यानी कि खंखरा आकार ले लेता है जिस कारण इनका वजन भी सामान्य पत्थरों से काफी कम होता है। इस खास पत्थर के छिद्रों में हवा भरी रहती है। यही कारण है कि यह पत्थर पानी में जल्दी डूबता नहीं है क्योंकि हवा इसे ऊपर ही रखती है।

इसे भी पढ़ें : चेन्नई: डॉक्टर भी रह गए हैरान, सात साल के बच्चे के 526 दांत

अब प्रश्न यह है कि रामसेतु पानी के अंदर डूब कैसे गया ?

कुछ समय के बाद जब धीरे-धीरे इन छिद्रों में हवा के स्थान पर पानी भर जाता है तो इनका वजन बढ़ जाता है और यह पानी में डूबने लगते हैं। यही कारण है कि रामसेतु पुल के पत्थर कुछ समय बाद समुद्र में डूब गए और उसके भूभाग पर पहुंच गए। नैशनल एरोनॉटिक्स एंड स्पेस, नासा जो कि विश्व की सबसे विख्यात वैज्ञानिक संस्था में से एक है उसके द्वारा सैटलाइट की मदद से रामसेतु पुल को खोज निकाला गया।

images 36 Ram Setu Bridge: नल और नील के पत्थर डूबते नहीं थे, इसके पीछे क्या वैज्ञानिक कारण थे?
(Ram Setu Bridge)

admin

Next Post

Goa खासकर अविवाहित लोगों और युवावर्ग में क्यूं प्रसिद्ध है

Thu Nov 21 , 2019
गोवा (Goa) को हम बेशक ही भारत का ‘लास वेगास’ कह सकते हैं. हो भी क्यों न? इसमें कुछ अलग ही बात है जिसके वजह से हर युवा इसकी तरफ खींचा चला आता है. गोवा (Goa) के समुद्र तट, यहाँ के पश्चिम घाट, यहाँ की जीवन शैली देखते ही बनती […]
Why is Goa particularly famous among the unmarried and the youth?