karan johar

निर्माता-निर्देशक करण जौहर ने धारा 377  को अपराध की श्रेणी से हटाने और अभिनेत्री कंगना रनौत को लेकर बड़ी बात बोली है। उन्होंने धारा 377 के कुछ प्रावधानों को हटाना उनके और उनके जैसे लोगों के एक जीत है। ये बहुत खुशी की बात है कि अब हर कोई जिसको चाहो उससे प्यार कर सकता है। धारा 377 के अपराध की श्रेणी से हटाना नफर पर प्यार की जीत होने जैसा है। 

मुंबई में हो रहे इंडिया टुडे कॉन्क्लेव 2019 में उन्होंने धारा 377 पर बात करते हुए कहा- ‘मैं उस दिन अपने लिए और इस समुदाय के लोगों के लिए रोया, क्योंकि आखिरकार हमारी आजादी थी। ये एक ऐतिहासिक फैसले के साथ सच्चे प्यार का उत्साह बनाने जैसा फैसला था। मैं बहुत खुश हूं कि इसको कानूनी तौर पर स्वीकार किया गया।’

करण जौहर ने भारत में गे शादी को लेकर भी बात की। उन्होंने कहा कि धारा 377 के कुछ प्रावधानों के हटने के बाद मुझे उम्मीद है कि गे शादी को भी जल्द सहमति मिल जाएगी। गे शादी को सहमति मिलना समलैंगिक समुदाय का अगला कदम हो सकता है। करण जौहर आगे करते हैं कि धारा 377 को पिछले साल उस समय अपराध की श्रेणी से बाहर कर दिया था जिस दिन करण जौहर के पिता यश जौहर का जन्मदिन होता है। इसलिए उनके लिए ये फैसला और भी ज्यादा खास मानते हैं। 

धारा 377 के अलावा करण जौहर ने बॉलीवुड में नेपोटिज्म यानी भाई-भतीजावाद को लेकर बात की। बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत करण जौहर पर हमेशा से नेपोटिज्म का आरोप लगाती रही हैं। कंगना के इन आरोपो पर करण जौहर का कहना है- ‘मैं कंगना को बस यही कहना चाहूंगा कि वह अपने अभिनय पर ध्यान दें। ‘

Leave a comment

Your email address will not be published.