Harbhajan Singh: इन दिनों आई पी एल 2022 चल रहा है, क्रिकेट प्रेमियों के बीच आईपीएल को लेकर एक अलग ही उत्साह देखने को मिलता है. फैंस बेसब्री से मैच देखने का इंतजार करते हैं. इस बार आईपीएल में 8 नहीं बल्कि 10 टीमें मैदान में उतरी हुई है.

आईपीएल की सबसे पुरानी टीम चेन्नई सुपर किंग्स सबसे सफल टीमों में से एक है क्योंकि यह टीम 4 बार आईपीएल जीत चुकी है. कप्तान महेंद्र सिंह धोनी शुरुआत से चेन्नई सुपर किंग्स टीम के साथ जुड़े हुए हैं और हर साल कैप्टंसी करके टीम को जीत दिलाते रहे हैं, मगर इस साल आईपीएल शुरू होने से पहले धोनी ने मशहूर क्रिकेटर रवींद्र जडेजा को कप्तानी सौंप दी थी, बीच सीजन में सीएसके मैनेजमेंट ने एमएस धोनी को फिर एक बार कप्तान बना दिया.

अभी तक खेले गए 13 मैचों में चेन्नई केवल 4 में ही जीत पाई है और 9 में उसे हार का सामना करना पड़ा था. ये चेन्नई के आईपीएल इतिहास में दूसरी बार हुआ है जब वो प्लेऑफ के लिए क्वालीफाई नहीं कर पाई है.बीच सीजन के बीच में महेंद्र सिंह को कप्तान बनाए जाने के बाद चेन्नई सुपर किंग जीत की राह पर लौटी थी, उसके बाद लोगों ने कहा कि अगर धोनी शुरू से कैप्टन होते तो या टीम का हाल कुछ और होता.

हरभजन सिंह ने हाल ही में लोगों के इस विचार से असहमति जताई है और कहा है-“अगर आईपीएल के शुरुआत से भी धोनी कप्तान रहते तो प्रदर्शन में कोई बदलाव नहीं होता लेकिन अगर मैच चेन्नई के होम ग्राउंड में होती तो बात कुछ गलत होती। चेपक में खेलना मुंबई में खेलने से काफ़ी अलग हैं। “

फिर टीम के बारे में बात करते हुए भज्जी ने कहा है कि-चेन्नई की गेंदबाजी इस साल काफ़ी कमजोर थी जिसके कारण मुंबई जैसे फ्लैट पिचों में उन्हें कामयाबी हासिल नहीं हुई.