Nirbhaya case: guilty Vinay Sharma and Mukesh filed curative petition
Nirbhaya case: guilty Vinay Sharma and Mukesh filed curative petition

निर्भया केस (Nirbhaya Case) के दोषी विनय कुमार शर्मा के बाद एक और दोषी मुकेश सिंह ने भी सुप्रीम कोर्ट में क्यूरेटिव पिटीशन दायर किया है. मुकेश सिंह के वकील ने गुरुवार को याचिका दायर की.

निर्भया केस (Nirbhaya Case) के चारों दोषियों को 22 जनवरी को सुबह 7 बजे फांसी पर लटकाया जाएगा, लेकिन दोषियों की कोशिश है कि उन्हें मिलने वाली फांसी की सजा में और देरी होती जाए.

ये भी पढ़ें: Nirbhaya Gangrape Case: सजा-ए-मौत के बीच है महज 350 घंटों

निर्भया केस (Nirbhaya Case) के चारों दोषियों को फांसी पर लटकाए जाने की तारीख तय हो चुकी है. दोषी चाहते हैं कि उन्हें दी जाने वाली फांसी की तारीख टाली जाए. दोषी मुकेश सिंह और विनय कुमार शर्मा की ओर से गुरुवार को इसी सिलसिले में ही याचिका दायर की गई है.

4 दोषियों में से 2 दोषियों ने क्यूरेटिव पिटीशन दाखिल कर दी है. दोषी विनय ने अपने याचिका में गुहार लगाई है कि सुप्रीम कोर्ट इस बात पर गौर करे कि अपराध के वक्त वह महज 19 वर्ष का था. ऐसे में सामाजिक आर्थिक पृष्ठभूमि को देखते हुए मामले की गंभीरता कम करने के फैक्टर के रूप में लिया जाना चाहिए.

ये भी पढ़ें: 24 लोगों ने किया दुष्कर्म, मॉडल बनना चाहती थी मध्यप्रदेश की नाबालिग लड़की

दोषी विनय ने अपनी याचिका में यह दलील दी थी कि सुप्रीम कोर्ट ने बलात्कार और हत्या से जुड़े 17 अन्य मामलों में मौत की सजा को आजीवन कारावास में बदला है, जिसमें नाबालिग भी शामिल हैं. ऐसे में दोषी विनय को भी राहत दी जानी चाहिए.