लोकसभा स्पीकर की बेटी बॉलीवुड एक्ट्रेस से भी ज्यादा खूबसूरत है, पहले ही प्रयास में बनी IAS | Bharat Gossips

लोकसभा स्पीकर की बेटी बॉलीवुड एक्ट्रेस से भी ज्यादा खूबसूरत है, पहले ही प्रयास में बनी IAS

राजस्थान के कोटा की रहने वाली अंजलि बिरला पढ़ने लिखने में बहुत अच्छी थी, लेकिन फिर उन्होंने साइंस या मैथ्स की बजाए आर्ट लेकर सबको चौका दिया। दरअसल उन्होंने पहले से ही IAS अफसर बनने का सपना देख रखा था। अब उनका यह सपना सच भी हो गया। पिता ओम बिरला लोकसभा स्पीकर और सांसद हैं। माँ अमिता बिरला एक डॉक्टर हैं और बड़ी बहन आकांक्षा सीए हैं। लेकिन इसके बावजूद अंजली ने परिवार से हट कर अपने बाल पर पैरों पर खड़ा होने की ठानी।

पहली ही बार में पास कर ली सिविल सेवा परीक्षा

अंजली ने यूपीएससी की सिविल सेवा परीक्षा पहली ही बार में पास कर ली। उनकी 67वीं रैंक आई है। अब वे जल्द ही IAS अफसर बनने जा रही हैं। वे महिला सशक्तिकरण के क्षेत्र में काम करने की इच्छा रखती हैं। बचपन से ही वे बड़ी होकर गरीबों और महिलाओं के लिए कुछ करना चाहती थी। यही वजह है कि आर्ट्स में सोफिया स्कूल से 12वीं उत्तीर्ण की।

पहले से ही था IAS बनने का सपना

बॉलीवुड एक्ट्रेस से भी ज्यादा खूबसूरत है लोकसभा स्पीकर की बेटी, पहले ही प्रयास में बनी Ias

इसके बाद वे दिल्ली के रामजस कॉलेज से पॉलिटिकल साइंस करने लगी। कॉलेज में ऑनर्स डिग्री लेने के बाद उन्होंने दिल्ली में रहकर यूपीएससी परीक्षा की तैयारी शुरू कर दी।अंजली बताती है कि मां बाप अक्सर बच्चे को साइंस या मैथ्स लेने के लिए फोर्स करते हैं। लेकिन इसके बाहर भी एक दुनिया है।

आपको शुरू से अपना लक्ष्य पता होना चाहिए। मुझे IAS अफसर बनना था इसलिए मैंने आर्ट्स लेकर उस दिशा में पढ़ाई शुरू कर दी थी। यदि मैं भी दूसरों के कहने में मैथ्स या साइंस ले लेती तो आज इस मुकाम पर नहीं होती।

बड़ी दीदी आकांक्षा ने इस मुकाम तक पहुंचने में की मदद

बॉलीवुड एक्ट्रेस से भी ज्यादा खूबसूरत है लोकसभा स्पीकर की बेटी, पहले ही प्रयास में बनी Ias

अंजली बताती हैं कि उनकी बड़ी दीदी आकांक्षा ने इस मुकाम तक पहुंचने में बहुत हेल्प की। जब भी वे निराश हो जाती थी तो दीदी उन्हें मोटिवेट करती थी। अपना सीए का काम निपटा लेने के बाद वे सिविल परीक्षा की तैयारी भी करवाती थी। यहाँ तक की इंटरव्यू क्रेक करने की रणनीति तक उन्होंने अंजली को बताई।

अंजली की इस कामयाबी से पूरा परिवार उन पर गर्व कर रहा है। उनका रिजल्ट आते ही मां बाप ने बेटी का फूलों से स्वागत कर टीका लगाया। अंजली बताती हैं कि IAS अफसर बनने के बाद उनके जीवन का एक मात्र लक्ष्य गरीबों और जरूरतमंदों की मदद करना होगा। वे समाज के लिए कुछ अच्छा करना चाहती हैं।

admin

Next Post

दुनियाभर में करीब 7.8 करोड़ कार कम बिकीं, प्रोडक्शन भी 16% तक गिर गया

Fri Mar 26 , 2021
कोरोना महामारी ने बीते साल दुनियाभर में कार कंपनियों का प्रोडक्शन प्रभावित किया। इंटरनेशनल ऑर्गनाइजेशन ऑफ मोटर व्हीकल मैन्युफैक्चरर्स के मुताबिक, महामारी की वजह से 2020 में दुनियाभर में कार प्रोडक्शन 16% तक गिर गया। ओईका के अध्यक्ष, फू बिंगफेंग ने कहा कि कम से कम 78 मिलियन (करीब 7.8 […]
Around 7.8 crore cars sold worldwide, production also fell by 16%.