राज्यसभा में पास हुआ मोटर वाहन संशोधन बिल, ट्रैफिक नियम तोड़ना जेब पर भारी | Bharat Gossips

राज्यसभा में पास हुआ मोटर वाहन संशोधन बिल, ट्रैफिक नियम तोड़ना जेब पर भारी

राज्यसभा ने विधेयक को चर्चा के बाद 13 के मुकाबले 108 मतों से पारित कर दिया। विधेयक पर लाये गये विपक्षी सदस्यों के संशोधन प्रस्तावों को ध्वनिमत से खारिज कर दिया गया। विधेयक को 23 जुलाई को लोकसभा में पारित किया गया था। किंतु विधेयक में ‘मुद्रण की कुछ मामूली त्रुटि’ रह जाने के कारण सरकार को उसे ठीक करने के लिए तीन संशोधन लाने पड़े। इन संशोधनों के कारण अब यह विधेयक फिर से लोकसभा में जाएगा। गौरतलब है कि पिछली 16वीं लोकसभा में इस बिल को पास किया गया था, लेकिन लोकसभा भंग होने के बाद नई सरकार ने इसे कुछ अन्य संशोधनों के साथ पुराने स्वरूप में ही 17वीं लोकसभा में पेश करने का फैसला किया था।

बुधवार को बिल पेश करते हुए केंद्रीय मंत्री गडकरी ने सदन में संशोधन विधेयक पर चर्चा के दौरान कहा कि 30 साल पुराना मौजूदा कानून सड़क हादसों को रोकने और परिवहन प्रक्रिया को सुचारू बनाने में कामयाब नहीं हो पा रहा है। इसमें संशोधन की दो साल से चल रही कोशिशों का जिक्र करते हुये गडकरी ने बताया कि इस विधेयक को स्थायी समिति और प्रवर समिति में विस्तृत चर्चा के बाद पेश किया गया है। विधेयक में सड़क दुर्घटनाओं को कम करने के मकसद से काफी कठोर प्रावधान रखे गये हैं। किशोर नाबालिगों द्वारा वाहन चलाना, बिना लाइसेंस, खतरनाक ढंग से वाहन चलाना, शराब पीकर गाड़ी चलाना, निर्धारित सीमा से तेज गाड़ी चलाना और निर्धारित मानकों से अधिक लोगों को बैठाकर अथवा अधिक माल लादकर गाड़ी चलाने जैसे नियमों के उल्लंघन पर कड़े जुर्माने का प्रावधान किया गया है। इसमें एंबुलेंस जैसे आपातकालीन वाहनों को रास्ता नहीं देने पर भी जुर्माने का प्रस्ताव किया गया है ।

अपराधवर्तमान में जुर्माना प्रस्तावित जुर्माना राशि
सीट बेल्ट नहीं पहनने पर100 रुपये1,000 रुपये
हेलमेट नहीं पहनने पर100 रुपये1,000 रुपये और 3 महीने के लिए लाइसेंस निलंबित
इमरजेंसी वाहनों का रोस्ता नहीं देने परपहले कोई जुर्माना नहीं था 10,000 रुपये
बिना ड्राइविंग लाइसेंस ड्राइविंग500 रुपये5,000 रुपये
लाइसेंस निलंबित होने के बाद भी ड्राइविंग500 रुपये10,000 रुपये
शराब पीकर ड्राइविंग 2,000 रुपये10,000 रुपये
स्पीडिंग/रेसिंग500 रुपये5,000 रुपये
ओवरलोडिंग2,000 रुपये और उसके बाद प्रति टन 1000 रुपये20,000 रुपये और प्रति टन 2,000 रुपये
नाबालिगों द्वारा ड्राइविंग पहले कोई जुर्माना नहीं थादोषी पाये जाने पर 25,000 रुपये और 3 साल की जेल, वाहन का रजिस्ट्रेशन रद्द


admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Next Post

यूपी से बाहर उन्नाव कांड पर होगी सुनवाई, सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला

Thu Aug 1 , 2019
आज दोपहर 12 बजे पेश होने और अभी तक की जांच के बारे में जानकारी देने का निर्देश दिया है। साथ ही न्यायालय ने उस सड़क दुर्घटना मामले की जांच पर जानकारी मांगी है जिसमें उन्नाव बलात्कार पीड़िता घायल हो गई थी। शीर्ष अदालत ने कहा कि हम इस बलात्कार […]
RDESController राज्यसभा में पास हुआ मोटर वाहन संशोधन बिल, ट्रैफिक नियम तोड़ना जेब पर भारी