Jio यूजर्स बात करने के लिए देने होंगे पैसे, कराना होगा रिचार्ज (Recharge) इस तारीख से | Bharat Gossips

Jio यूजर्स बात करने के लिए देने होंगे पैसे, कराना होगा रिचार्ज (Recharge) इस तारीख से

जियो (Jio) के ग्राहकों के लिए झटकों के बीच एक राहत भरी खबर भी है. रिलायंस जियो (Jio) के वे ग्राहक जिन्होंने अपना रिचार्ज 9 अक्टूबर या उससे पहले किया है, वे दूसरे नेटवर्क पर तब तक मुफ्त में बात कर सकेंगे जब तक उनके प्लान की वैलिडिटी खत्म नहीं हो जाती. रिलायंस जियो (Reliance Jio) के इंस्टाग्राम पेज पर यूजर्स के लिए यह जानकारी शेयर की गई है.

इसे भी पढ़ें : मुकेश अंबानी: सबसे धनी देश बनने की राह पर भारत

रिलायंस जियो (Jio) ने अपने ग्राहकों को बड़ा झटका देते हुए कॉलिंग के लिए पैसे लेने का एलान किया है। जियो के ग्राहकों को अब फोन पर बात करने के लिए पैसे देने होंगे। जियो के एक बयान के मुताबिक जियो के ग्राहकों को किसी दूसरी कंपनी के नेटवर्क पर कॉल करने के  लिए प्रति मिनट 6 पैसे देने होंगे

इसे भी पढ़ें : Reliance Jio दिवाली ऑफर, 699 रुपए में मिलेगा बिना एक्‍सचेंज के जिओ मोबाइल

जियो (Jio) ने कहा है कि वह अपने 35 करोड़ ग्राहकों को आश्वस्त करता है कि आउटगोइंग ऑफ-नेट मोबाइल कॉल पर 6 पैसा प्रति मिनट का शुल्क केवल तब तक जारी रहेगा जब तक TRAI अपने वर्तमान रेगुलेशन के अनुरूप IUC को समाप्त नहीं कर देता। हम TRAI के साथ सभी डाटा को साझा करेंगे ताकि वह समझ सके कि शून्य IUC यूजर्स के हित में है।

वर्तमान में 6 पैसे प्रति मिनट है IUC शुल्क

पूरा मामला इंटरकनेक्ट यूजेज चार्ज से जुड़ा है। IUC एक मोबाइल टेलिकॉम ऑपरेटर द्वारा दूसरे को भुगतान की जाने वाली रकम है। जब एक टेलीकॉम ऑपरेटर के ग्राहक दूसरे ऑपरेटर के ग्राहकों को आउटगोइंग मोबाइल कॉल करते हैं तब IUC का भुगतान कॉल करने वाले ऑपरेटर को करना पड़ता है। दो अलग-अलग नेटवर्क के बीच ये कॉल मोबाइल ऑफ-नेट कॉल के रूप में जानी जाती हैं। भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (TRAI) द्वारा IUC शुल्क निर्धारित किए जाते हैं और वर्तमान में यह 6 पैसे प्रति मिनट हैं।

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Next Post

कुपोषण संकट से निपटने के लिए मानवीय समाधान आवश्यक : स्मृति जुबिन ईरानी

Thu Oct 10 , 2019
केंद्रीय महिला और बाल विकास मंत्री स्मृति जुबिन ईरानी (Smriti Zubin Irani) ने आज नई दिल्ली में भारत की पोषण चुनौतियों पर 5वीं राष्ट्रीय परिषद की बैठक की अध्यक्षता की। महिला और बाल विकास मंत्री ने अपने संबोधन में कहा कि भारत में कुपोषण के संकट से निपटने के लिए […]
Humanitarian solution necessary to tackle malnutrition crisis: Smriti Zubin Irani